Nadi Jyotish

                                                                                     - B.K. Kumar

 || ~~~~~~~~~~~~~~~ शुक्र-राहू युति फल ~~~~~~~~~~~~~~~ ||

 

धन होगा, सामान होगा, शुक्र युत जो स्वर्णभान होगा । 

मान होगा, सम्मान भी होगा, जो उसका ईमान होगा।। 

Read more: शुक्र और राहू जब हों साथ। शुक्र - राहू युति फल दोहा रूप में

-By B.K. Kumar

 

Progression of Jupiter Over 10th House from its Natal Position and Completion of Age Span (Purnayu).

Read more: Progression of Jupiter in 10th House and Purnayu

सूर्य, बुध व् राहु के संयोग में व्यक्ति विदेश से जुड़े व्यापार करे या विदेश में ही व्यापार करे तो सफलता मिलती है। शुरुआत में आमदनी भले ही कम हो लेकिन उत्तरोतर आमदनी में काफी इजाफा होता है। इस योग का कुंडली के प्रकाशित भाग में होना अच्छा है। ऐसे लोग सरकारी संस्थान में वैज्ञानिक या अनुसंधानकर्ता हो सकते है। बड़ी बड़ी कंपनी में चार्टर्ड अकाउंटेंट हो सकते हैं। सरकारी विवाद के निबटान सम्बन्धी कार्य से भी बास्ता हो सकता है आदि। हालांकि संतान और बहन पक्ष कुप्रभावित होता है ।

Read more: Nadi Link of Sun-Mercury-Rahu & Foreign

नाड़ी ज्योतिष की पुरातन विधा है। यह विधा ज्योतिष के उन आधारभूत सिद्धतों पर आधारित है, जिसका कमोवेश भारतीय ज्योतिष की सभी विधाओं में खास कर पारंपरिक ज्योतिष यथा पराशरीय ज्योतिष में अनुपालन किया जाता है । नाड़ी ज्योतिष उसी framework में काम करता हैं जिसमें पारंपरिक या अन्य ज्योतिष काम करता है।

Read more: Nadi Astrology Overview in Hindi

Your cart

Cart is Empty